अभी-अभी: पीएम मोदी का ऐलान, जिन्होंने बैंक में पैसा जमा किया है वो बच गए क्या?

मुंबई : पीएम मोदी इस शिवाजी मैमोरियल का उद्घाटल करने के बाद इस वक्त अवाम को संबोधित कर रहे हैं।

pm-modi-7

पीएम मोदी ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि विश्व में आज शिवाजी का व्यक्त्तिव स्वाभिमानी है, बहुअयामी है। उनके जैसा व्यक्त्तिव नहीं। घोड़ा, तलवार और युद्ध तक सीमित नहीं हैं शिवाजी। उन्होंने कहा कि मुंबई के समंदर में बनेगा दुनिया का सबसे ऊंचा शिवाजी महाराज का स्मारक।
उन्होंने बोलते हुए कहा कि देश की हर समस्या का हल सिर्फ विकास है। अगर शुरु से ही विकास की राजनीति की जाती तो आज इतनी समस्या नहीं होती। पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि इस सरकार ने करोड़ों लोगों को बिजली ना देकर 18वीं सदी में जीने के लिए मजबूर कर दिया। उन्होंने कहा कि लिख लीजिए, देश बढ़ेगा भी, दुनिया झुकेगी भी आज आप ये बात लिख लीजिए। उन्होंने कहा कि लोग सोचते हैं कि बैंक में काला धन जमा होने से वो बच गए, लेकिन असली काम तो अब शुरू हुआ है। जिन्होंने 70 साल तक देश को लूटा है वो अब बच नहीं पाएंगे। 
मोदी ने कहा कि 50 दिनों के बाद इमानदारों लोगों की तकलीफ घटना शुरू हो जाएगी और बेइमान लोगों की तकलीफें बढ़ना शुरू हो जाएगी।
इससे पहले, पीएम मोदी आज मुंबई में शिवाजी मैमोरियल का उद्घाटन करने के लिए पहुंचे। लेकिन मोदी की वजह से करीब 150 मछुआरों को हिरासत में लिया गया।
एक समाचार पत्र की रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम मोदी के मुंबई पहुंचने से पहले करीब 150 से ज्यादा भारतीय मछुआरों को हिरासत में लिया गया। ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि ये सभी मछुआरें इस मैमोरियल को बनाने का विरोध कर रहे थे। मछुआरों के कोली समुदाय का मानना है कि इस मैमोरियल के बनने से उनकी जीविका खतरे में पड़ जाएगी।
समचार पत्र की रिपोर्ट के मुताबिक, बीते शुक्रवार को मुंबई पुलिस ने करीब 150 मछुआरों को हिरासत में ले लिया। जोकि शिवाजी मैमोरियल के पास बाइक रैली से अपना विरोध दर्ज कराने वाले थे। मछुआरों के समुदाय की ही एक महिला ने कहा कि हम शिवाजी मैमोरियल के उद्घाटन के दौरान पीएम मोदी को काले झंडे दिखाएंगे। हालांकि इन्हें इससे पहले ही हिरासत में ले लिया गया।
अखिल महाराष्ट्र मच्छीमार कुरुति समिति प्रमुख दामोदार टंडेल ने बताया कि उन्हें तब तक रिहा नहीं किया जाएगा जब तक भूमिपूजन का कार्यक्रम पूरा नहीं हो जाता। ये बात उन्होंने बीते शुक्रवार को कही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *