नोटबंदी: 60 लाख लोगों ने बैंकों में जमा कराए 7 लाख करोड़ रुपये

aeceb1e3eee5415b601e63417fea60d9नई दिल्ली : पुराने नोटों को बैंकों में जमा करने का आज आखिरी दिन है। 8 नवंबर को पीएम मोदी के 500 और 1000 के नोटों को बैन करने के ऐलान के बाद से देश के अलग-अलग इलाकों से कालेधन जब्त किए गए। वहीं सरकार को मिली जानकारी के मुताबिक अब तक केवल 60 लाख लोगों ने 7 लाख करोड़ रुपये जमा कराये हैं।

वित्त मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक एक एक ट्रांजैक्शन को खंगाला जा रहा है। जमा कराये गए 4 लाख करोड़ रुपये पर सरकार की नज॒र है। इस रकम पर सरकार को नई टैक्स स्कीम के तहत टैक्स पेनाल्टी के आसार है। सरकार को टैक्स पेनाल्टी से भारी रेवेन्यू मिलने की भी उम्मीद है।

बैंकों में जमा किए गए पैसे की डीटेल सरकार ने हर बैंक ब्रांच से मंगाई।

केवल बैंक में पैसा जमा कर देने से काला धन सफेद नहीं होगा।

2 लाख से 5 लाख रुपये जमा कराने वाले सभी डिपॉजिट की जानकारी सरकार के पास मौजूद है।

2 लाख, 5 लाख, 10 लाख, 15 लाख, 25 लाख, 80 लाख से ऊपर अलग-अलग जगहों पर जमा किए गए अकाउंट्स की डीटेल वित्त मंत्रालय ने बैंकों से मंगाया है।

संदेह के दायरे में आने वाले खातों को जांच के लिए इनकम टैक्स, ED, DRI को भेजा जा रहा है।

नोटबंदी के दौरान बड़े पैमाने पर लोन रिपेमेंट कैश में किए जाने की जानकारी सरकार को मिली।

8-29 नवंबर के बीच 177000 लोन अकाउंट्स में 50,000 करोड़ रुपए कैश में रीपेमेंट किए गए हैं।

औसतन 28 लाख रुए हर लोन अकाउंट में पेमेंट हुआ है।

सरकार लोन अकाउंट होल्डरों से इनकम का सोर्स पूछेगी।

दूसरे के पैसों को अपने अकाउंट में रकम जमा की होगी उनपर बेनामी ट्रांजैक्शन एक्ट के तहत कार्रवाई होगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *