यूपी विधानसभा चुनाव 2017: सपा कार्यकर्ताओं से अखिलेश के प्रति वफा का लिखित इकरारनामा

akhilesh-yadav-express-759कानपुर (जेएनएन)। सपा में फैली रार के बीच अब वफादारी बड़ा और गंभीर मुद्दा बन गया है। वैध-अवैध के संशय में झूल रहे राष्ट्रीय अधिवेशन में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने के फैसले पर अब पार्टी नेताओं का मन टटोला जा रहा है। नए अध्यक्ष के प्रति वफा का लिखित इकरारनामा लिया जा रहा है। 

नवीन मार्केट स्थित पार्टी कार्यालय में गुरुवार को चुनावी तैयारियों को लेकर बैठक थी। वहां मुख्यमंत्री के भरोसेमंद अमिताभ बाजपेयी भी पहुंचे। सूत्रों के मुताबिक, पार्टी के प्रतिनिधि सभा के सदस्यों से अखिलेश का नेतृत्व स्वीकार करने संबंधी सहमति पत्र पर हस्ताक्षर लिए गये।

सभी ने मुलायम सिंह यादव की नीतियों और अखिलेश के नेतृत्व पर रजामंदी जाहिर की। इसके पीछे मंशा अधिवेशन के फैसले को पार्टी के संविधान के अनुरूप पुख्ता करने की है। पार्टी संविधान के मुताबिक, बड़े फैसले पर राष्ट्रीय प्रतिनिधियों की सहमति जरूरी है। चूंकि एक जनवरी को लखनऊ में हुए राष्ट्रीय अधिवेशन में तो सिर्फ मौखिक स्वीकारोक्ति हुई थी, जिसे अब दस्तावेजी रूप दे दिया गया है। जब इस संबंध में अमिताभ बाजपेयी से बात की तो उन्होंने कहा कि वह सिर्फ पार्टी कार्यकर्ताओं से सलाह-मशविरा करने आए थे। यह सामान्य प्रक्रिया है। सभी लोगों ने कहा है कि वह अखिलेश यादव का नेतृत्व और मुलायम सिंह की नीतियों को पसंद करते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *