जाने संभोग के दौरान महिलाएं क्यों नोंचती हैं आपका बदन ?

सभी ने कभी ना कभी अपने दोस्तों को ये मजाक करते हुए जरूर देखा या सुना होगा कि तुम्हारे शरीर पर ये निशान कैसे आए। लेकिन इस सवाल पर आपका वो दोस्त जरूर शर्मिंदा हो जाता होगा या फिर सवाल को टालने की कोशिश करता होगा। लेकिन हकीकत तो ये होती है कि उसके शरीर पर वो निशान शारीरिक संबंध बनाने के दौरान उसकी महिला साथी ने बनाए होते हैं। यह पाया गया है कि सेक्स करते वक्त महिलाएं अक्सर अपने पार्टनर को नाखून से नोंच लेती हैं। कुछ महिलाओं के लिए तो ये आदत सा होता है लेकिन कुछ के लिए ये चरम सुख की प्राप्ति है। ऐसे मे क्या सच है और क्या गलत इस बात से आज हम पर्दा उठाएंगे और आपको बताएंगे कि आखिर क्यों महिलाएं लवमेंकिंग के दौरान अपने साथी को नोच लेती हैं। कामोत्तेजना की अभिव्यक्ति यह सेटिसफैक्शन की ऐवज में हो सकता है, या आपकी महिला साथ इसे इंज्वॉय कर रही हो। तो दर्द भूलकर खुद पर गर्व महसूस करिए। क्योंकि आप अच्छा परफोर्म कर रहे हैं।

sex-danger-intro-740x500

आप सिर्फ उन्हीं की हैं प्रॉपर्टी कई महिलाएं चाहती हैं कि आप सिर्फ उनके ही रहें और आप उनकी पर्सनल प्रॉपर्टी हैं। ऐसे में वो आपके शरीर में निशान देती हैं। ठीक उसी तरह जिस तरह एक बच्चा अपनी चीजों पर अपना नाम लिख देता है। आप में खोना चाहती हैंलव मेकिंग के दौरान, मर्द और औरत दोनों एक-दूसरे में खोने की कोशिश करते हैं। स्क्रैच करने से इस बात का पता चलता है कि आपका साथी आपके प्यार के आगोश में खोता जा रहा है।आपको बहुत मिस किया हैहो सकता है आपको छूने के लिए उन्होंने बहुत इंतजार किया हो। उनके लिए यह लवमेकिंग इतनी ज्यादा एक्साइटेड रही हो कि वो खुद पर काबू न कर पाईं हो और आपको नोच दिया हो।

मूड में हैं आजकुछ महिलाओं को इससे संतुष्टि मिलती है तो कुछ महिलाएं ऐसा तब करती हैं जब उन्हें सेक्स की बहुत स्ट्रॉन्ग इच्छा हो।

प्रमुख महसूस करने के लिएकुछ ताकतवर महिलाएं जो हर चीज पर अपना आधिपत्य स्थापित करती हों वो आप पर भी हावी होने की कोशिश करेंगी। लवमेकिंग के दौरान स्क्रैच करना उनके इसी प्यार और डोमिनेंट नेचर को बयां करता है। गलती से कुछ महिलाएं जानबूझकर स्क्रैच नहीं करती बल्की यह गलती से हो जाता है। हो सकता है वो आपको टाइट पकड़ना चाह रही हों लेकिन गलती से नाखून लग गए हों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *