अफगान शरणार्थियों ने आस्ट्रिया सरकार को छला, हजारों पौंड की लगाई चपत

12_01_2017-afghanrefugeeनई दिल्ली(जेएनएन)। अफगानिस्तान में तालिबानियों की दहशत से वियना में शरण लिए हुए तीन अफगानियों के बारे में दिलचस्प जानकारी सामने आई है। तीनों अफगान शरणार्थियों पर आरोप है कि उन्होंने गलत जानकारी देकर आस्ट्रिया सरकार को बेवकूफ बनाया। अफगानी नागरिकों ने नाबालिब बनकर आस्ट्रिया में शरण लेने का आवेदन किया और आस्ट्रिया सरकार से मिलने वाले तमाम फायदों को उठाया।

आस्ट्रिया सरकार के मुताबिक तीनों अफगानी शरणार्थियों पर स्वास्थ्य और बुनियादी सुविधाओं के नाम 87 हजार पौंड खर्च किए गए हैं। लेकिन असलियत सामने आने पर तीनों शरणार्थियों को पांच से छह महीने जेल में गुजारने पड़े।तीनों अफगानी नागरिकों में से एक ने बताया कि किसी ने उससे कहा था कि अगर वो अपनी उम्र कम बताकर आवेदन करेगा तो उसे वापस अफगानिस्तान नहीं भेजा जा सकेगा। इसके अलावा उसे डर था कि अफगानिस्तान वापस जाने पर उसकी हत्या हो जाएगी।

अपने ऊपर लगे आरोपों को नकारते हुए दो शरणार्थियों ने कहा कि उन्हें अपनी जन्मतिथि के बारे में जानकारी नहीं है। उनके माता-पिता निरक्षर थे और वे अफगान कैलेंडर का इस्तेमाल किया करते थे। अफगानी और इरानी हिजरी कैलेंडर में 6 महीने 31 दिन, पांच महीने 30 दिन और एक महीना 29 दिन का होता है। शरणार्थियों की दलील को जज ने नकार दिया और कहा कि वे जानबूझ कर झूठ बोल रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले 10 महीनों में 16 हजार से ज्यादा विदेशी नाबालिग नागरिकों ने आस्ट्रिया में शरण के लिए आवेदन किया है। जिनमें से 4 हजार ऐसे हैं जिनका कोई अपना नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *