उत्तर कोरिया का आइसीबीएम टेस्ट विफल करने को अमेरिका की तैयारी

missile_11_10_2015वाशिंगटन (रायटर)। उत्तर कोरिया के अंतरमहाद्वीपीय बैलेस्टिक मिसाइल (आइसीबीएम) टेस्ट को रोकने के लिए अमेरिका सक्रिय हो गया है। उसने हवाई द्वीप पर तैनात उच्च तकनीक वाले रडार को कोरिया प्रायद्वीप की ओर रवाना कर दिया है। यह रडार हवाई से करीब दो हजार किलोमीटर की दूरी पर तैनात किया जाएगा।

यह एक्स बैंड रडार समुद्री क्षेत्र में किसी भी मिसाइल की गतिविधि पकड़ने में सक्षम है। इसके बाद अमेरिका का एंटी मिसाइल सिस्टम उसे बीच रास्ते में गिरा सकता है। रडार के जनवरी के अंत तक तैनात होने की उम्मीद है। हाल ही में उत्तर कोरिया ने दावा किया था कि वह जल्द ही आइसीबीएम का परीक्षण करेगा।

यह परीक्षण पांच हजार किलोमीटर की दूरी तक मार करने वाली मिसाइल का होगा। लेकिन बहुत कम प्रयास में इसकी मारक क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। इससे परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया के निशाने पर करीब नौ हजार किलोमीटर दूर स्थित अमेरिका भी आ जाएगा। उत्तर कोरिया अपने पड़ोसी दक्षिण कोरिया, जापान और अमेरिका को अपना मुख्य दुश्मन मानता है। उसका तानाशाह किम जोंग उन जब-तब अमेरिका समेत तीनों देशों को बर्बाद करने की धमकी देता रहता है।

आइसीबीएम के टेस्ट की घोषणा के बाद ही अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर ने कहा था कि ऐसे किसी भी टेस्ट को अमेरिका विफल कर देगा। टेस्ट मिसाइल को बीच में मार गिराया जाएगा। उच्च तकनीकी वाले रडार की तैनाती इसीलिए की जा रही है। अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कहा है कि उत्तर कोरिया आइसीबीएम बनाने का उद्देश्य पूरा नहीं कर पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *