जवान की पत्नी बोली- पति अनुशासित नहीं हैं तो उनके हाथों में बंदूक क्यों दी

12_01_2017-tez-bhadurनई दिल्ली (जेएनएन)। चंडीगढ़ (जेएनएन)। खाने की गुणवत्ता को लेकर सोशल मीडिया में शिकायती वीडियो पोस्ट करने वाले सीमा सुरक्षा बल के जवान तेज बहादुर को अनुशासनहीन करार दिए जाने पर उनकी पत्नी आपत्ति जताई है।

एक अंग्रेजी अखबार से बात करते हुए तेज बहादुर की पत्नी शर्मिला यादव ने , “अगर मेरे पति मानसिक तौर पर अस्वस्थ थे या अनुशासहीन थे, तो बीएएसएफ ने उनके कंधे पर सबसे संवेदनशील इलाके की सुरक्षा करने के लिए बंदूक क्यों थमाई?”

शर्मिला यादव ने कहा, “उन्होंने (तेजबहादुर) मुझे बताया कि मुझ पर शिकायत वापस लेने और माफी मांगने के लिए दवाब बनाया जा रहा है। मेरे पति के साथ दिक्कत यह है कि वह किसी भी तरह के अन्याय सहने के आदी नहीं हैं।”

बीएसएफ जवान तेजबहादुर यादव ने जब ने फेसबुक पर खराब खाने की गुणवत्ता वाला विडियो शेयर किया है तब से लेकर अभी तक इस वीडियो को 90 लाख से भी ज्यादा लोग देख चुके हैं जबकि 4.4 लाख से ज्यादा लोग इसे सोशल मीडिया में शेयर कर चुके हैं।

खराब गुणवत्ता वाले खाने और बीएसएफ में भ्रष्टाचार की शिकायत करते हुए एक विडियो अपलोड किया था जिसे अब तक कुल 90 लाख लोग देख चुके हैं और करीब 4.4 लाख लोग शेयर कर चुके हैं। गृह मंत्रालय ने जवान के आरोप के बाद जांच के आदेश दिए हैं

शर्मिला ने बताया कि बीएसएफ में जाने से पहले उनके पति को ट्रेनिंग पूरी करने के बाद स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया था। शर्मिला के अनुसार तेज बहादुर को 20 साल की सर्विस के दौरान बीएसएफ अधिकारियों द्वारा वह 14 पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

शर्मिला ने आरोप लगाते हुए कहा कि पहले भी कई बार उनके पति को बीएसएफ द्वारा सच बोलने के लिए दंडित किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि बीएसएफ एक ऐसी अनुशासित सेना मानी जाती है जहां छोटी से छोटी गलती भी बर्दाश्त नहीं की जाती। अगर उनका रिकॉर्ड इतना खराब रहा तो उन्हें सेना में बनाए क्यों रखा गया?

अपने 17 वर्षीय बेटे रोहित के साथ रह रही शर्मिला ने बताया कि उनके पति बीएसएफ में 5 साल और अपनी सेवाएं देना चाहते थे लेकिन अधिकारियों ने उन्हें सर्विस के 20 साल पूरे होने के बाद 31 जनवरी को स्वैच्छिक रिटायरमेंट लेने के लिए दबाव डाला। उनके वीआरएस के आवेदन को भी मंजूरी दे दी है।

तेज पांच भाईयों में सबसे छोटे हैं। उनका एक और भाई भी बीएसएफ जवान है जबकि अन्य भाई गुजरात पुलिस में कार्यरत हैं। शर्मिला एक प्राइवेट कंपनी में काम करती हैं और बेटे रोहित ने अपनी 12वीं की परीक्षा दी है और इंजिनियरिंग की तैयारी कर रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *